नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9974940324 8955950335 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , आप संयोजक केजरीवाल को सुप्रीम की जमानत मिलते ही भाजपा पर लगाए आरोप* – भारत दर्पण लाइव

आप संयोजक केजरीवाल को सुप्रीम की जमानत मिलते ही भाजपा पर लगाए आरोप*

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

*आप संयोजक केजरीवाल को सुप्रीम की जमानत मिलते ही भाजपा पर लगाए आरोप*
कांतिलाल मांडोत
केजरीवाल आप के एक ऐसे नेता है जो हमेशा गलत वजहों से खबरो में बने रहते है।उनकी टिप्पणियां प्रायः बेतुकी और असंगत होती है।उनकी ये बाते उनकी कुंठा को ही व्यक्त करती है।हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने उनको सशर्त जमानत देते हुए कहा कि केजरीवाल को सचिवालय और मुख्यमंत्री कार्यालय नही जाने और दो जून को ईडी की हिरासत में जाने का आदेश दिया।केजरीवाल जुठ बोलने के कारण जाने जाते है।उनकी भाषा असभ्य और आप के विरोधियो के प्रति अवमाननापूर्ण होती है।जेल से छूटते ही भाजपा पर बोलते हुए कहा कि बड़े नेताओं को जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया।मोदी अगली बार जीतकर आएंगे तो मुख्यमंत्रियों को पद से हटा देंगे।जिसमे योगी का भी उल्लेख किया है।कांग्रेस और आप एक ही सिक्के के दो पहलू है।जिस तरह कांग्रेस आजादी के बाद से भ्रष्टाचार की वैतरणी पार कर रही है।वैसे ही आप संयोजक केजरीवाल सहित अनेक नेता भ्रष्टाचार के आरोप में जेल की हवा खा रहे है।जिस तरह केजरीवाल जूठे मुकदमे की बात कहकर अपने को पाक साफ साबित करना चाहते है।वैसे ही उनकी मंशा झडपने की रही है।लिकर घोटाले के आरोप में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जेल से सशर्त जमानत मिली है।अन्ना हजारे की अंगुली पकड़कर केजरीवाल करप्शन खत्म करने राजनीति की दहलीज पार करने निकले थे।उन्ही की नीतियों में फेरबदल करते समय भ्रष्टाचार का आरोप में जेल भेज दिये गए।ईडी सीबीआई पर जूठे मुकदमे करने के आरोप तथ्यविहीन है।क्योंकि देश का कानून कहता है कि दोषी छूट जाए पर निर्दोष को सजा नही होनी चाहिए।केजरीवाल की बाते मनगढ़ंत होती है।उसी का कारण है कि केजरीवाल के नेता जेल में बन्द है 13 मई को आंध्र और तेलंगाना की सभी सीटो पर मतदान है।कही टक्कर तो कही विपक्ष की हालत खराब है।उधर केजरीवाल के मनगढ़ंत आरोपो का खंडन करते हुए अमित शाह ने कहा कि 75 साल में रिटायरमेंट का हमारा संविधान नही है।85 साल बाद भी मोदी ही देश का नेतृत्व करेंगे।केजरीवाल को अपनी पार्टी और अपनी फिक्र करनी चाहिए।केजरीवाल की लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए सुप्रीम ने जमानत देते ही पाकिस्तान गदगद हो उठा।जैसे उनके पार्टी के कोई नेता को जमानत मिली हो।सुप्रीम कोर्ट ने सशर्त जमानत तो दे दी लेकिन केजरीवाल मुँहफट नेता है।उनके बोल और सतारूढ़ पार्टी पर की जाने वाली कॉमेंट और आरोप बेबुनियाद और बेतुके होते है।जिसके कारण उनकी कठोर वाणी उनको ही नुकसान करती दिख रही है।मंथन करना चाहिए।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

May 2024
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031