नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9974940324 8955950335 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , धोखाधड़ी कर रुपए ऐंठने के मामले में गोगुन्दा पुलिस ने साइबर ठग को गिरफ्तार किया* – भारत दर्पण लाइव

धोखाधड़ी कर रुपए ऐंठने के मामले में गोगुन्दा पुलिस ने साइबर ठग को गिरफ्तार किया*

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

*धोखाधड़ी कर रुपए ऐंठने के मामले में गोगुन्दा पुलिस ने साइबर ठग को गिरफ्तार किया*
गोगुन्दा 23 दिसम्बर
पुलिस डाल डाल तो साइबर ठग पात पात वाली कहावत वर्तमान परिपेक्ष्य में सच्ची साबित हो रही है।साइबर क्राइम ब्रांच हर शातिर साइबर ठग पर नजर रखे हुए है लेकिन उनकी तरकीब नागरिकों पर भारी पड़ रही है।गोगुन्दा पुलिस ने साइबर ठगी के फरार आरोपी को अलवर जिले के कठूमर थाना क्षेत्र ने नंगला मतवा तसई निवासी असलम खां (35) वर्ष को गिरफ्तार कर उदयपुर न्यायालय में पेश किया गया।जहाँ से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।
गोगुंदा थानाधिकारी शैतान सिंह नाथावत ने बताया कि 5 नवंबर 22 को उपजिला प्रमुख पुष्कर तेली व अरविंद कुमार झारोली ने साईबर ठगी होने की रिपोर्ट दी थी थी, जिसके आधार पर भादस व आईटी एक्ट के अंतर्गत एफआईआर दर्ज कर जांच की गई। जांच के दौरान अलवर जिले के अकबरपुर थाना क्षेत्र के अलापुर निवासी असलम पुत्र सरसा खां मेव (29 वर्ष) को पहले ही गिरफ्तार कर दिया था।
उल्लेखनीय है कि उपजिला प्रमुख की व्हाट्सएप्प डीपी का उपयोग कर साइबर ठगों ने उपजिला प्रमुख के कई मिलने वाले लोगों को मैसेज कर रूपए मांगे थे, जिस पर लोगों ने रूपए ट्रांसफर कर दिए थे। उसके बाद उपजिला प्रमुख ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। वहीं अरविंद कुमार जारोली की डीपी का उपयोग कर उनके मिलने वाले लोगों से भी साइबर ठगी कर ली थी। इन दोनों की रिपोर्ट के बाद से पुलिस जांच में जुटी थी। दूसरा आरोपी शातिर होने के चलते पकड़ में नहीं आ रहा था।

थानाधिकारी शैतानसिंह नाथावत ने बताया कि करीब एक साल से वांछित चल रहे आरोपी को पकड़ने के लिए विशेष टीम का गठन किया गया, जिसमें कांस्टेबल हितेंद्र सिंह, धर्मेंद्र सिंह, प्रदीप कुमार, योगेंद्र व साइबर सेल के नेतराम को शामिल किया गया। उन्होंने बताया कि आरोपी को पकड़ने में हितेंद्र, प्रदीप व धर्मेंद्र की मुख्य भूमिका रही।
नाथावत ने बताया कि टीम ने संभावित ठिकानों पर दबीश दी गई परंतु कोई सुराग नहीं मिला। आरोपी के परिजनों से पूछताछ की तो भी कोई सहायता नहीं की गई। पुलिस टीम द्वारा गहन प्रयास करने के बाद आरोपी का पता चला, जहां पहुंचने पर पुलिस टीम को देखकर आरोपी मौके से मोटरसाईकिल से भागने लगा, जिस पर पुलिस ने अपनी निजी मोटरसाइकिल से आरोपी की बाइक को टक्कर मारकर उसे नीचे गिरा दिया और उसे पकड़ लिया।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930