नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9974940324 8955950335 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , गुजरात में एक साल में 959 हत्याएं, 610 बलात्कार, 13 हजार से ज्यादा चोरियां, 1846 अपहरण – भारत दर्पण लाइव

गुजरात में एक साल में 959 हत्याएं, 610 बलात्कार, 13 हजार से ज्यादा चोरियां, 1846 अपहरण

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

गुजरात में एक साल में 959 हत्याएं, 610 बलात्कार, 13 हजार से ज्यादा चोरियां, 1846 अपहरण
सूरत 6 दिसम्बर
एनसीआरबी की रिपोर्ट में गुजरात में एक साल में 959 हत्याएं, 610 बलात्कार, 13 हजार से अधिक चोरियां और 1846 अपहरण के मामले सामने आए हैं। हत्या के लिए आपसी रंजिश और प्रेम प्रकरण मुख्य कारण है। एक साल में 134 हत्याएं प्रेम प्रकरण में हुई हैं, जबकि 102 में पारिवारिक विवाद जिम्मेदार है।
नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो(एनसीआरबी) ने वर्ष 2022 की रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार गुजरात में सर्वाधिक चोरियां रात में होती हैं। रात में 2953 और दिन में 360 चोरी के मामले दर्ज हुए हैं। रिपोर्ट के अनुसार हत्या के मामलों में 372 की उम्र 30 से 45 और 283 की उम्र 18 से 30 साल है। एक साल में 49 सीनियर सिटीजन की हत्याएं हुई हैं। इसमें 36 पुरुष और 13 महिलाएं हैं। वर्ष 2022 में अहमदाबाद में 238 और सूरत में 33 सीनियर सिटीजन पर अत्याचार के मामले सामने अाए हैं। अहमदाबाद में वर्ष 2022 में 8 सीनियर सिटीजन की हत्या हुई है, जबकि 37 चोरी और 10 लूट के शिकार हुए हैं।
वहीं, आत्महत्या की बात करें तो गुजरात में वर्ष 2022 में 9002 लोगों ने सुसाइड किया है। इसमें 6258 पुरुष, 2742 महिलाएं और 2 किन्नर हैं। आत्महत्या के लिए आर्थिक तंगी और पारिवारिक विवाद मुख्य कारण हैं। एनसीआरबी की रिपोर्ट में गुजरात में पारिवारिक विवाद में 2285, बीमारी से 1747 लोगों ने आत्महत्या की है। रोज कमाकर खाने वाले 3122 लोगों ने आत्महत्या की है। प्रदेश में वर्ष 2022 रोजाना औसतन 8 से 9 लोगों ने सुसाइड किया है। चौंकाने वाली बात यह है कि 711 छात्रों ने भी आत्महत्या की है। इसमें 337 युवक और 374 युवतियां हैं। 1761 हाउस वाइफ और 154 किसानों ने भी आत्महत्या की है।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930