नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9974940324 8955950335 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , पीसीबी ने खूंखार अपराधी को उस जगह से गिरफ्तार किया, जहां झारखंड की पुलिस भी जाने से डरती है, गैंग्स ऑफ वासेपुर की यहीं हुई थी शूटिंग – भारत दर्पण लाइव

पीसीबी ने खूंखार अपराधी को उस जगह से गिरफ्तार किया, जहां झारखंड की पुलिस भी जाने से डरती है, गैंग्स ऑफ वासेपुर की यहीं हुई थी शूटिंग

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

पीसीबी ने खूंखार अपराधी को उस जगह से गिरफ्तार किया, जहां झारखंड की पुलिस भी जाने से डरती है, गैंग्स ऑफ वासेपुर की यहीं हुई थी शूटिंग

सूरत 28 दिसम्बर
पुलिस हत्या, लूट, दुष्कर्म जैसे गंभीर मामलों में फरार बदमाशों को गिरफ्तार करने का अभियान चला रही है। इसी कड़ी में पीसीबी की टीम ने झारखंड के अतिसंवेदनशील इलाके से एक खूंखार अपराधी को गिरफ्तार किया है। पीसीबी की टीम ने उसे जहां से गिरफ्तार किया है, उस इलाके में झारखंड की पुलिस भी जाने से कतराती है। आरोपी उधना में युवक की हत्या करने के बाद 21 साल से फरारी काट रहा था। पीसीबी को उसे गिरफ्तार करने का जिम्मा सौंपा गया था। इसी बीच पीसीबी को खुफिया जानकारी मिली की आरोपी झारखडं के धनबाद, पांडरपाला भूली आउट पोस्ट, वासीपुर में रहता है। सारी जानकारी जुटाने के बाद पीसीबी की टीम झारखंड पहुंची। पीसीबी ने जान की बाजी लगाकर उमर उर्फ अमर अब्दुल रसीद अंसारी(पहले लिंबायत में मदीना मस्जिद के पास रहता था) को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि 21 साल पहले वर्ष 2003 में आरोपी के दोस्त मेहराज अली उर्फ मिराज का दयाशंकर पुत्र शिवचरण गुप्ता से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। आरोपी ने इसी रंजिश में अपने दाेस्त मिराज के साथ मिलकर दयाशंकर को उधना, हरिनगर-2, अमृत नगर में ले जाकर शराब पिलाने के बाद उसकी हत्या कर दी थी। मृतक की पहचान छिपाने के लिए मुंह पर कपड़ा रखकर शव को जला दिया था। कमरे में ताला लगाकर अपने गांव भाग गया था। पुलिस ने आरोपी को भगोड़ा घोषित किया था।
पुलिस ने उसके गांव में सात दिनों तक निगरानी की
पीसीबी के एएसआई सहदेव और हेड कांस्टेबल अशोक ने आरोपी की जानकारी जुटाई थी। इसके बाद एएसआई सहदेव, एएसआई हसमुख, एएसआई दीपक और हेड कांस्टेबल अशोक की टीम झारखंड रवाना हुई। पुलिस ने 7 दिनों तक उसकी निगरानी की।
आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने टेम्पो भी चलाया
पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी टेम्पो चलाता है। पीसीबी की टीम ने आरोपी को पकड़ने के लिए टेम्पो भी चलाया। पुलिस ने झारखंड के अतिसंवेदनशील वासीपुर में जहां स्थानीय पुलिस भी दबिश देने से डरती है, उस इलाके में टेम्पो चलाकर आरोपी को गिरफ्तार किया।
पीसीबी ने एक साल में 22 आरोपियों को गिरफ्तार किया, इसमें 16 हत्या के आरोपी हैं
प्रिवेंशन ऑफ क्राइम ब्रांच की टीम ने साल 2023 में 10 साल से अधिक समय से फरार 22 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसमें 16 हत्या के आरोपी हैं। भगोड़े अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने साधु, टेम्पो ड्राइवर, मजदूर, किसान का भेष बनाया था।
गैंग्स ऑफ वासेपुर फिल्म की जहां शूटिंग हुई वहीं रहता था आरोपी
हिन्दी फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर की जहां शूटिंग हुई थी, आरोपी उसी इलाके में रहता था। पुलिस इलाके से 50 किलोमीटर दूर ठहरी थी ताकि किसी को कोई शक न हो।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930